तुम ही सब कुछ हो

You Are All Things मण्यम सेव्लन उस परमशक्ति के बारे में एक वैदिक चिन्तन जो सभी अस्तित्वमान चीज़ों में मौज़ूद है यह स. राधाकृष्णन के प्रमुख उपनिषद के श्वेताश्वतर उपनिषद के अध्याय चार का अनुवाद है। यह उपनिषग शुक्ल…

Continue reading